डायरिया के घरेलु उपचार - Herbal Home Remedies For Loose Motions ( Diarrhea).



डायरिया (Loose   Motions ) एक गंभीर बीमारी नहीं है लेकिन यदि समय पर डायरिया के रोगी का सही इलाज नहीं किया गया तो डायरिया से पीड़ित रोगी की जान भी जा सकती है। डायरिया को दस्त भी कहा जाता है। यदि कोई व्यक्ति को लगातर पैखाना जाना पड़े तथा उल्टी भी शुरू हो जाये तो कहा जा सकता है कि उस व्यक्ति को डायरिया का प्रकोप हो गया है। किसी व्यक्ति को डायरिया दूषित पानी या दूषित खाने से उत्पन होते है। यदि किसी साधारण व्यक्ति को यदि जायदा शौच जाना पड़ जाये तो तुरंत उपचार करना जरुरी होते है। डायरिया के रोग से छोटे बच्चे से लेकर बड़े बूढ़े भी हो सकते है। डायरिया रोग का प्रकोप कभी भी हो सकते है।


डायरिया के लक्षण Loose Motions Ke Lakshan :-  

  • यदि आपको तीन दिनों तक लगातार पानी के तरह पैखाना हो तो आपको डायरिया हो सकता है। 
  • कभी -कभी लगातार उल्टी के साथ खून भी आना डायरिया के ही लक्षण होते है। 
  • डायरिया के रोगी को शौच जाने के पहले या बाद पेट में दर्द का अनुभव होते है। 
  • कभी -कभी दस्त के साथ -साथ सिर दर्द या बुखार आना भी डायरिया के लक्षण हो सकते है। 


डायरिया के कारण Loose Motions Ke Karan :-

  • डायरिया के एक कारण जायदा मसालेदार खाना खाने से भी होते है। 
  • कभी -कभी अत्यधिक शराब के सेवन से भी डायरिया हो सकता है। 
  • कभी -कभी अत्यधिक दवाई खाने के कारण भी डायरिया हो सकते है। 
  • डायरिया या दस्त से ग्रसित होने के एक कारण दूषित पानी या दूषित भोजन भी हो सकते है। 
  • कभी -कभी अधिक तनाव को भी डायरिया के कारण होते है क्योंकि तनाव के कारण कब्जियत हो जाते है और कब्जियत डायरिया को बढ़वा देते है। 


डायरिया या दस्त के घरेलु उपचार Herbal Home Remedies For Loose Motions :-

1. ओआरएस  का घोल से डायरिया के घरेलु उपचार :-
  • डायरिया से पीड़ित रोगी होने के शरीर से पानी की मात्रा में काफी कमी हो जाती है और हरवक्त पानी जायदा प्यास लगती है। इसलिए जब पानी प्यास लगे तो सिर्फ पानी का सेवन न करके लगातार ओआरएस का घोल का सेवन करने से शरीर में एनर्जी बनी रहती है।

2.  दही से डायरिया के घरेलु उपचार :-
  • दही का उपयोग डायरिया या दस्त के रोगी के लिए काफी लाभदायक होते है। डायरिया से पीड़ित रोगी यदि रोजाना दिन में दो से तीन बार दही का सेवन करते रहे तो डायरिया से हुए लूज़ मोसन को रोकने में काफी असरदार सिद्ध होते है। 
3.  अदरक से डायरिया के घरेलु उपचार :-
  • अदरक के उपयोग आदिकाल से पुराने से पुराने रोगों में असरदार सिद्ध होते आ रहे है। डायरिया व दस्त जैसे रोगो के लिए भी अदरक काफी हितकारी होते है। अदरक का रस व नींबू का रस के साथ कालीमिर्च का पॉउडर मिलाकर डायरिया से ग्रसित रोगी को नियमित सेवन करने से काफी लाभ मिलते है। 
  • इसके अलावे अदरक मिलाकर चाय पीने से भी पेट दर्द में आराम मिलते है। 

4.  इसबगोल से डायरिया के घरेलु उपचार :-
  • इसबगोल का प्रयोग से डायरिया को रोकने में काफी कारगर औषधि माने जाते है। डायरिया से पीड़ित रोगी को इसबगोल के भूसी का उपयोग काफी लाभ देते है। इसबगोल के भूसी को रात को सोते वक्त एक गिलास पानी में भीगने दे दें तथा सुबह उस इसबगोल पानी का सेवन करने से पाचन -क्रिया को ठीक करता है तथा डायरिया को भी रोकने का काम करता है। 
5.  बबूल के पत्ते से डायरिया के घरेलु उपचार :-
  • डायरिया से पीड़ित रोगी को बबूल के पत्ते के साथ काला जीरा मिलाकर रोजाना सेवन करने से डायरिया को रोकने का काम करता है। 
  • इसके अलावे बबूल के छाल को पानी में डालकर कम तापमान में उबाल कर काढ़ा बनाकर सेवन करना भी डायरिया को रोकने का काम करता है। 

6.  अर्जुन के पत्ते से डायरिया के घरेलु उपचार :-
  • अर्जुन के पत्ते को शुद्ध पानी में डालकर उसका काढ़ा बनाकर पीने से भी डायरिया को रोका जा सकता है। 
7.   पुदीना से डायरिया के घरेलु उपचार :-
  • पुदीना के पत्ते डायरिया के रोगी के लिए काफी उपयोगी माने जाते है। पुदीने के पत्ते को पानी में डालकर उसका काढ़ा बनाकर पीने से डायरिया को रोका जा सकता है। 

8.  हल्दी से डायरिया के घरेलु उपचार :-
  • हल्दी का उपयोग आदिकाल से पुराने रोगो में भी किया जाता रहा है। हल्दी डायरिया के लिए भी कारगर औषधि होते है। आधा चमच्च हल्दी के पॉउडर को एक गिलास गर्म पानी के साथ मिलाकर डायरिया से ग्रसित रोगी को दिन में दो से तीन बार सेवन करना काफी हितकारी होते है। 
9.  दालचीनी से डायरिया के घरेलु उपचार :-
  • दालचीनी भी डायरिया के रोकथाम करने में कारगर होते है। एक कप गर्म पानी के साथ एक चमच्च दालचीनी पॉउडर का मिश्रण बना ले तथा उस मिश्रण में अदरक का रस मिलाकर डायरिया से पीड़ित रोगी को रोजाना दो से तीन बार पीना चाहिए। 

डायरिया या दस्त कोई गंभीर बीमारी में नहीं आते है। डायरिया का इलाज हम आसान घरेलु नुस्खे को अपनाकर कर सकते है लेकिन यदि डायरिया रोग का रूप गंभीर हो गए हो और आपको लगातार पैखाना व उल्टी होते जा रहे है तो आपको डाक्टरी उपचार लेना ही बेहतर होगा। लेकिन यदि आपको डायरिया के लक्षण का पता तुरंत चल जाये तो आप तुरंत घरेलु नुस्खे को अपना सकते है।


डायरिया के घरेलु उपचार - Herbal Home Remedies For Loose Motions ( Diarrhea). डायरिया के घरेलु उपचार - Herbal Home Remedies For Loose Motions ( Diarrhea).  Reviewed by A Sinha on फ़रवरी 12, 2018 Rating: 5
Blogger द्वारा संचालित.