हैजा के घरेलु उपचार - Herbal Home Remedies For Cholera.


हैजा (Cholera ) एक गंभीर बीमारी में आते है। हैजा से पीड़ित रोगी का समय पर इलाज नहीं होने से जान भी जाने का खतरा बना रहता है। हैजा एक संक्रमित रोगों में आता है। हैजा की उत्पति दुषित भोजन या दूषित पानी के द्वारा शरीर में बैक्टेरिया से फैलने वाली बीमारी है। हैजा के प्रमुख लक्षण दस्त व उल्टी का शुरू होना माना जाता है। यदि हैजा की पहचान शुरआत में ही पता चल जाये तो आप घरेलु नुस्खे से इसका इलाज कर सकते है लेकिन यदि हैजा का रूप बिस्तार हो गया है तो डाक्टरी चिकित्सा ही कराना बेहतर होगा।

हैजा के लक्षण Cholera Ke Lakshan :- 


  • हैजा से ग्रसित रोगी का मुख्य लक्षण लगातार पतला मल का होना होते है। 
  • हैजा के रोगी को अत्यधिक पानी प्यास लगना भी हो सकता है। 
  • कभी -कभी जायदा मल होने के कारण शरीर के मांसपेशियों में खिचाव भी होने लगते है। 
  • हैजा के रोगी को लगातार उल्टी होना शुरू हो जाते है या उल्टी होने का अनुभव होते रहता है। 
  • कभी -कभी हैजा के रोगी कमजोर होने के कारण उनके हाथ -पैर ठंडे भी हो जाते है। 
  • हैजे से पीड़ित रोगी को सांस लेने में भी कठिनाई होने लगते है। 
  • हैजा के रोगी का रक्तचाप भी बढ़  जाते है। 


हैजा के कारण  Cholera Ke Karan :-

  • हैजा के मुख्य कारण दूषित पानी का सेवन करना माना जाता है। 
  • हैजा दूषित पानी से बने बर्फ से भी हो सकता है। 
  • हैजा खुले सड़क में मिलने वाले खाने के सेवन करने से भी हो सकते है। 
  • कभी -कभी अधपके मांसाहारी भोजन का सेवन करने से भी हैजा हो जाते है। 
  • कभी -कभी मानव मल से उपजाये साग -सब्जी का उपयोग लगातार करने से भी हैजा हो सकते है। 

 हैजा होने से  घरेलु उपचार Herbal Home Remedies For Cholera :-

1.  नींबू से हैजा के घरेलु उपचार :-
  • हैजा से पीड़ित रोगी के शरीर में पानी की कमी हो जाती है जिससे शरीर में कमजोरी व मांसपेशी में ऐठन होने लगते है। ऐसी परीस्थिति में पानी प्यास बहुत जायदा लगने लगते है तो हैजा के रोगी को नींबू -पानी का सेवन करना लाभकारी होते है।
2.  शहद से हैजा के घरेलु उपचार :-
  • शहद का प्रयोग भी हैजा के रोगी के लिए उपयोगी होते है। एक गिलास पानी में शहद ,नींबू के रस व नमक का मिश्रण बनाकर हैजा होने से पीते रहने से शरीर में एनर्जी बनी रहती है। 
3.  ओआरएस के घोल से हैजा के घरेलु उपचार :-
  • हैजा   से ग्रसित रोगी को प्यास लगने से ओआरएस का घोल लगातार देते रहने से शरीर में कमजोरी नहीं होने देता है। 
  • इसके अलावे ओआरएस का घोल घर में भी बनाया जा सकता है। एक गिलास में चार कप पानी ले लें तथा छह चमच्च चीनी व आधा चमच्च नमक का मिश्रण बना कर हैजा में पीते रहने से काफी लाभ होते है। 
4.  हल्दी से  हैजा के घरेलु उपचार   :-
  • हैजा के रोगी के लिए हल्दी का उपयोग काफी उपयोगी होते है। हल्दी के जड़ को नींबू के रस में डालकर करीब दो घंटे तक भीगने दे फिर उस मिश्रण को अच्छी तरह से पीस कर एक बर्तन में रख ले। तथा हल्दी व नींबू रस के मिश्रण को पानी के साथ शहद मिलाकर पीने से दस्त व लगातार मल होने से कमजोरी को कम करने में काफी हद तक लाभकारी सिद्ध होते है। 
5.  लौंग से हैजा के घरेलु उपचार :-
  • लौंग का उपयोग हैजा के लिए उपयोगी होते है। एक बर्तन में शुद्ध पानी में लौंग डालकर उस पानी को उबालकर पीने से दस्त से आराम मिलता है।
6.   मेथी से हैजा के घरेलु उपचार :-
  • मेथी  का उपयोग हैजा में करने से काफी हद तक लाभ मिलता है। दही के साथ मेथी का पॉउडर व जीरा पॉउडर मिलाकर सेवन करने से हैजा के रोगी काफी लाभ मिलता है। 
7.  प्याज से हैजा के घरेलु उपचार :-
  • हैजा के रोगी के लिए प्याज उपयोगी माने जाते है। हैजा से पीड़ित रोगी को प्याज तथा कालीमिर्च को पीसकर उसका पेस्ट बनाकर हैजा से ग्रसित रोगी को दिन में दो से तीन बार सेवन करने से काफी लाभ मिलता है। 
हैजा एक गंभीर बीमारी में आने वाले बीमारीयों में आते है। हैजा से पीड़ित रोगी का उपचार घरेलु नुश्खे से भी करना सम्भव हो सकता है लेकिन यदि हैजा गंभीर रूप से आपको या आपके किसी परिवार को हो गया है तो डाक्टरी ईलाज कराना ही बेहतर उपाय है।  
हैजा के घरेलु उपचार - Herbal Home Remedies For Cholera. हैजा के घरेलु उपचार - Herbal Home Remedies For Cholera. Reviewed by Hindi Doctor on फ़रवरी 21, 2018 Rating: 5
Blogger द्वारा संचालित.